Pf Ki Puri Jankari

नमस्कार दोस्तों आज के इस पोस्ट में मैं आपको Pf Ki Puri Jankari देने जा रहा हूँ। तो आप इसे आखिर तक जरूर पढ़े।

EPFO Employees Provident Fund Organization एक sarkari संगठन या संस्था योजना है, इसे “कर्मचारी भविष्य निधि” कहा जाता है।

“कर्मचारी भविष्य निधि” उनके पैसे को व्यवस्थित और सुरक्षित रखने का काम करता है ताकि इसमें कर्मचारी का भविष्य बेहतर हो। बाद में कर्मचारी को देता है।

pf फुल फॉर्म इन हिंदी

अगर आप किसी कंपनी में काम करते हैं तो आपने पीएफ और ईपीएफ के बारे में तो सुना ही होगा, दोनों एक ही हैं। पफ को “Provident Fund” भविष्य निधि और EPF को “Employees Provident Fund” कर्मचारी भविष्य निधि कहा जाता है।

अगर किसी कंपनी में 20 से ज्यादा कर्मचारी काम करते हैं, तो इस योजना का लाभ मिलता है। कंपनी पर निर्भर करता हैं।

अगर आप किसी कंपनी में कर्मचारी के तौर पर काम करते हैं तो उनकी सैलरी का कुछ प्रतिशत वह पीएफ में काट लेते हैं।

आपको कंपनी में काम करने वाले कर्मचारी को पीएफ बाद में दिया जाता है। भविष्य में आपको पैसों की बहुत जरूरत है। और अगर आपको कोई दिक्कत आ रही है तो आप पीएफ का पैसा निकाल सकते हैं।

कंपनी में कार्यरत कर्मचारी को EPFO ​​कर्मचारी भविष्य निधि देना अनिवार्य है। इस योजना के तहत कार्यरत कर्मचारी भविष्य में इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

pf कितना कटता है

EPFO में अंशदान तीन तरह से किया जाता है। EPF, EPS, EDLI जैसे तीन खाते हैं और आपको अलग-अलग सुविधाएं मिलती हैं।

कर्मचारी जिस कंपनी के लिए काम करता है उसके वेतन का 12% या उसके वेतन पर निर्भर करता है, और कंपनी की ओर से उसके खातों में जमा किया जाता है।
जिस कंपनी में आप काम कर रहे हैं, उस कंपनी की तरफ से आपके पीएफ खातों में नियोक्ता का शेर भी जमा हो जाता है, उसे हम नियोक्ता कहते हैं।

कर्मचारी के वेतन का 12% और नियोक्ता का 12% शेर का हिस्सा EPF, EPS, EDLI में जमा होता है।
कर्मचारी के वेतन का 12% नियोक्ता का शेर 12% होगा यानी दोनों एक साथ 24% होंगे, इसका मतलब है कि आपका पैसा दोगुना हो गया है।

कंट्रिब्यूशन में EPF, EPS, EDLI में तीन खाते हैं।

EPF में कर्मचारी योगदान को वेतन का 12% और नियोक्ता योगदान कंपनी से 12% मिलता है। इसमें आपको दुगना पैसा मिलता है। और ब्याज भी अच्छा है।

कंपनी द्वारा EPS में नियोक्ता का योगदान 12% जमा किया जाता है, जिसमें से 8.33% EPS में जमा किया जाता है। वहीं बाकी का 3.67 फीसदी EPF में जमा होता है। और PF में अंशदान दस साल से ज्यादा का होना चाहिए। आप 58 साल की उम्र के बाद इस योजना से पेंशन का लाभ उठा सकते हैं।

EDLI योजना में 0.5% नियोक्ता द्वारा ही दिया जाता है। और EDLI योजना पीएफ खाताधारकों के लिए एक बीमा कवर योजना है। अगर पीएफ खाताधारकों की मृत्यु हो जाती है तो उनके परिवार को 7 लाख रुपये तक का बीमा मिलता है। यह योजना आपकी सेवा पर निर्भर करती है। इस तरह आपको EDLI Insurance के तहत कई फायदे मिलते हैं।

PF को कैसे लॉग इन कर सकते हैं? और Universal Account Number (UAN) क्या है? इस के बारे मे जानकारी देने वाला हूँ।

अगर आप किसी कंपनी में काम करते हो, तो कंपनी कुछ हिस्सा आपके वेतन से और कंपनी की तरफ से कुछ हिस्सा PF “Provident Fund” “भविष्य निधि” आपको दिया जाता है। और काम पूरा होने के बाद निकल सकते हो। या काम करते समय आपको पैसे जरुरत है ,तो भी आप अडवांस में निकल सकते हो।

PF “Provident Fund” को निकल ने के लिए कंपनी की तरफ से १२ अंको का Universal Account Number ( UAN ) दिया जाता है। इसके बारे में आगे आपको बताने वाला हूँ।

PF “Provident Fund” निकलने के लिए सबसे पाहिले आपको PF लॉग इन करना पड़ेगा तो जानते है, PF को कैसे लॉग इन कर सकते हैं।

ईपीएफ में लॉग इन कैसे करें?

सबसे पहले ईपीएफ में लॉग इन करने के लिए आपको क्रोम ब्राउजर ओपन करना होगा। उसके बाद आपको EPF की इस वेबसाइट https://www.epfindia.gov.in/ पर आना है। आपको स्क्रॉल करके नीचे आना है।
आपके सामने Member Home का ऑप्शन आएगा उस पर क्लिक करें।

सामने Universal Account Number (UAN)आएगा।
आप 12 अंकों का यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (यूएएन) नंबर और पासवर्ड चुनकर लॉग इन कर सकते हैं। लेकिन लॉग इन करने के लिए यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (यूएएन) पहले से ही सक्रिय होना चाहिए।

UAN (यूनिवर्सल अकाउंट नंबर) क्या है।

अगर कर्मचारी कंपनी में काम करते हैं तो कंपनी द्वारा काम करने वाले सभी कर्मचारियों को यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (UAN) दिया जाता है। (UAN) आप अपने PF “Provident Fund” “भविष्य निधि” की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

कर्मचारी पैसे निकाल सकते हैं। और “Provident Fund” ट्रांसफर कर सकते हैं।

UAN (यूनिवर्सल अकाउंट नंबर) एक्टिवेशन करने के लिए इस दस्तावेज़ की आवश्यकता होती है। और इस जानकारी का पालन करना आवश्यक है .

दर्ज की जाने वाली जानकारी EPFO Employees Provident Fund Organization रिकॉर्ड के अनुसार होनी चाहिए।

कंपनी में काम करने वाले कर्मचारी के पास यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (UAN) होना चाहिए।
कंपनी में कार्यरत कर्मचारी का आधार नंबर, नाम, जन्म तिथि, EPF में सभी जानकारी सही होनी चाहिए।
कर्मचारी का मोबाइल नंबर आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए।

UAN (यूनिवर्सल अकाउंट नंबर) एक्टिवेशन कैसे करे।

Activate UAN करने के लिए EPF की इस वेबसाइट https://www.epfindia.gov.in/ पर आना है।
निचे right side में आपको Activate UAN का ऑप्शन दिखेगा उस पर क्लिक करे।

निचे आपको Employees Provident Fund Organization (EPFO) रिकॉर्ड के अनुसार UAN (यूनिवर्सल अकाउंट नंबर), मेंबर ID, आधार कार्ड, नाम, डेट ऑफ़ बिर्थ, मोबाइल नंबर और Captcha फील करे। बॉक्स पर टिक मार्क करके निचे Get Authorization Pin पर क्लिक करे।

आपके आधार कार्ड से जुड़े मोबाइल नंबर पर ओटीपी भेजा जाएगा। नीचे ENTER OTP के बॉक्स में OTP डालना है।
इसके बाद आपको Valid OTP And Active UAN पर क्लिक करना होगा।

आपके मोबाइल नंबर पर UAN एक्टिव मैसेज भेजा जाएगा। और इसके साथ पासवर्ड भी भेजा जाएगा। इस तरह आप UAN नंबर एक्टिवेट कर सकते है

ईपीएफ KYC(केवाईसी) कैसे करें।

सबसे पहले ईपीएफ में केवाईसी करने के लिए आपको क्रोम ब्राउजर खोलना होगा। उसके बाद आपको ईपीएफ की इस वेबसाइट https://www.epfindia.gov.in/ पर जाना होगा।

आपको Member Home का Option मिलेगा उस पर Click करें।
यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (UAN) सामने आएगा।
12 अंकों का यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (यूएएन) नंबर और पासवर्ड चुनकर आप Sign.in करके तुरंत यूएएन पोर्टल पर दर्ज हो जाएंगे।

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि केवाईसी करने के लिए आपका मोबाइल नंबर आपके आधार कार्ड के साथ पंजीकृत होना चाहिए। क्योंकि आपके पीएफ खाते में केवाईसी के लिए ओटीपी में आधार का जिक्र होता है।

इसके बाद आपको मैनेज पर क्लिक करना है। और केवाईसी का चयन करना होगा। Add KYC का ऑप्शन खुलेगा।
जैसे आपको Bank KYC करना है। तो आपको Bank पर क्लिक करना है।

आपको बैंक अकाउंट नंबर और आईएफएससी कोड डालना होगा। और बॉक्स का चयन करें। आपके आधार कार्ड के साथ पंजीकृत मोबाइल नंबर पर ओटीपी भेजा जाएगा। उस ओटीपी को दर्ज करें और Submit बटन पर क्लिक करें।

इस तरह आप बैंक पैन पासपोर्ट आदि के नंबर और नाम की जानकारी डालकर केवाईसी कर सकते हैं।

ईपीएफ BALANCE कैसे चेक करें ?

मैं आपको ईपीएफ BALANCE कैसे चेक करने के तीन तरीके बताने जा रहा हूं।

ऑनलाइन ईपीएफ बैलेंस कैसे चेक करें।

  • सबसे पाहिले आपको Googleओपन करना है।
  • उसमे epf passbook सर्च करनी है।
  • सबसे ऊपर आपको EPFO Member Passbook दिखाई देगी, उस पर क्लिक करें।
  • आपको यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (यूएएन) और पासवर्ड औरनीचे दिए गए कैप्चा कोड को दर्ज करके Login पर क्लिक करना होगा.
  • फिर आप Select MEMBER ID का चयन कर सकते हैं और View Passbook द्वारा बैलेंस चेक कर सकते हैं।

बिना इंटरनेट के ईपीएफ बैलेंस कैसे चेक करें।

2 EPF बैलेंस चेक करने के लिए आपको EPFO ​​द्वारा जारी किए गए नंबर पर मिस कॉल की मदद से 011222901406 पर मिस कॉल करनी होगी। कुछ देर बाद आपके मोबाइल नंबर पर प्रोविडेंट फंड से एक मैसेज आएगा, इस तरह आपको पता चल जाएगा कि आपका बैलेंस कितना है।

3 यह तरीका बहुत आसान है, इसमें आप मैसेज भेजकर ही बैलेंस पता कर सकते हैं, इसके लिए आपको मैसेज बॉक्स में अपना UAN नंबर EPFOHO डालना होगा। और 7738299899 पर मैसेज करें। कुछ देर बाद आपके मोबाइल नंबर पर प्रोविडेंट फंड से मैसेज आएगा।

इस तरह बैलेंस का पता चल जाएगा। इस तरह EPF बैलेंस तीन तरीके जान सकते है।

ईपीएफ को ऑनलाइन ट्रांसफर कैसे करे?

सबसे पहले आपको क्रोम ब्राउजर खोलना होगा। ईपीएफ की इस वेबसाइट https://www.epfindia.gov.in/ पर जाना होगा।

आपको Member Home का Option मिलेगा उस पर Click करें।

यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (यूएएन) नंबर और पासवर्ड डालकर आप Sign.in करके तुरंत यूएएन पोर्टल पर दर्ज हो जाएंगे।

होम पेज के मेन मेन्यू Online Services पर क्लिक करना है। और उसके बाद ONE MEMBER – ONE EPF ACCOUNT (TRANSFER REQUEST) पर क्लिक करना है।

अब आपके सामने दो ऑप्शन मिलेंगे। Attestation through*

Previous Employer और Present Employer

उस में Present Employer पर क्लिक करना है। उस के बाद आपको MEMBER ID और UAN का विकल्प मिलेगा।

इसमें पिछली कंपनी की MEMBER ID दर्ज करें और Get Details पर क्लिक करें। नीचे आपको विवरण मिलेगा।

उसमें आपको Member Name पर टिक करना है, नीचे स्क्रॉल करके नीचे आना है। और बॉक्स को टिक मार्क करें।

आपको Get OTP पर क्लिक करना है, मोबाइल पर भेजे गए OTP को दर्ज करना है और सबमिट बटन पर क्लिक करना है।

इस तरह आप पिछली कंपनी के पीएफ को वर्तमान में ट्रांसफर कर सकते हैं।

PF का पैसा ऑनलाइन कैसे निकाले?

सबसे पहले ईपीएफ में लॉग इन करने के लिए आपको Google सर्च में pf login टाइप करना है। आपके सामने Member Home का ऑप्शन आएगा,उस पर क्लिक करना है।

सामने Universal Account Number (UAN) पेज आएगा

यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (यूएएन) नंबर और पासवर्ड डालकर Sign in क्लिक करके तुरंत यूएएन पोर्टल पर दर्ज हो जाएंगे।

PF का पैसा ऑनलाइन निकल ने के लिए सबसे पाहिले आपको होम पेज के मेन मेन्यू Online Services पर क्लिक करना है। और आपको ONLINE CLAIM (FORM 31,19,10C &10D) पर क्लिक करना है। आपके सामने MEMBER Details फील होगी।

अब आपको ब्लेंक बॉक्स दिखेगा उसमे Bank Account Number डालना है, और Verify के बटन पर क्लिक करना है।

आपके सामने वार्निंग शो होगी Yes पर क्लिक करना है। निचे Proced For Online Claim पर क्लिक करना है। I want to apply for उसमे आपको क्लेम फॉर्म को सिलेक्ट करना है।

Online PF Withdrawal (FORM-19) को सिलेक्ट करना है।

आधार कार्ड पर जो अड्रेस है, डिटेल्स में फील करना है। और पासबुक की कॉपी minimum 100kb से minimum 500kb में होनी चाहिए।

पासबुक को अपलोड करना है, और निचे बॉक्स में टिक मार्क करना है।

उसके बाद Get Aadhar OTP के बटन पर क्लिक करना है।

आधार कार्ड के रजिस्टर मोबाइल नंबर पर OTP भेजा जायेगा।

उस OTP को एंटर करके निचे Validate OTP and Submit Claim From पर क्लिक करना है, इस तरह से आप Only Pension Withdrawal (From -10C) को अप्लाय कर सकते है।

दावा प्रक्रिया के बाद, पीएफ का पैसा आपके बैंक खाते में आमतौर पर 15-20 दिनों के भीतर जमा कर दिया जाएगा। इस तरीके से आप PF का पैसा ऑनलाइन निकाल सकते है।

Epf Me Nominee Kaise Add Kare

EPF Customer Care टोल फ्री नंबर
ईपीएफ से संबंधित किसी भी समस्या के मामले में, आप ईपीएफ कस्टमर केयर से संपर्क कर सकते हैं।
सहायता केंद्र – 1800118005

Leave a Comment